भारतीय परम्परा

बबिता जी पोद्दार

Babita Poddar
बबिता जी पोद्दार

प्रोफेशन - Housewife, Author and Poet
एजुकेशन - B.Com.
रूचि - Cooking, Writing, Singing, Poetry and Reading
शहर - Surat
ईमेल - babitapoddar7@gmail.com









The tradition of the country is in my hands.

“हमारी धरोहर हमारी परम्परा”

“हमारी धरोहर,हमारी परम्परा”
अनमोल,अनुपम,अदभुत विरासत है,भारतीय परम्परा।
संस्कारो की उत्कृष्ट अमानत का उद्‌गम है,भारतीय परम्परा।

The tradition of the country is in my hands.

मेरे हाथ में है देश की परम्परा

मेरे हाथ में है देश की परम्परा
भारतीय परम्परा,जिसको सजाती है भारतीय नारी,
विभिन्नता लिये परिधानो से लुभाती, लहराती है जब अपनी साड़ी ...
...मेरे देश की परम्परा है मेरे हाथ में
कहती है गर्व से भारत की हर नारी





संस्कारो की प्यारी महक

संस्कारो की प्यारी महक

जिसमें पूरा परिवार आदर भावों के संस्कारो की प्यारी सी महक लिये,दूसरों की सुनने से पहले घर में आपसी बातचीत को महत्व देते हुए,सकारात्मक ऊर्जा के सुरक्षा चक्र के अन्दर ख़ुद की बुराइयों की हवा से हिफ़ाज़त करते हुए दुनिया के दूसरे देशों के लिये एकता का उदाहरण पेश करती है। सचमुच महान है भारत की पवित्र परम्परा जो ..

ज़िंदगी एक कविता

ज़िंदगी एक कविता

Namaste friends!
I am delighted to share that my book is now out on amazon. This book is compiled of about 100 beautiful hindi poems on all disciplines of life to give you a new perspective. The vision of this book is to help you enhance your relationships, unleash your inner potential, increase your self belief, and motivate you to achieve all your dreams.
I hope you love my book and I look forward to hearing your feedback!





©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |