Bhartiya Parmapara

Sameer Upadhyaya

Sameer Upadhyaya
Sameer Upadhyaya

नाम: समीर उपाध्याय 'ललित' पिता: स्व.ललितचंद्र शिवलाल उपाध्याय, माता: गं.स्व.हंसाबहन ललितचंद्र उपाध्याय, जीवनसंगिनी: श्रीमती कौशल्यादेवी समीर उपाध्याय, शैक्षणिक योग्यता: M.A., B.ED., M.PHIL. हिंदी(सुवर्ण चंद्रक विजेता), सौराष्ट्र युनिवर्सिटी हिंदी भवन, राजकोट, प्रथम क्रमांक(1997), संप्रति: उपाध्याय, श्री म्युनिसिपल हाईस्कूल- थानगढ़ जिला: सुरेंद्रनगर (गुजरात), एकल काव्य-संग्रह: आर्तनाद (2018), विश्व गाथा प्रकाशन: सुरेंद्रनगर (गुजरात) भारत के 12 से भी अधिक हिंदी साझा काव्य-संग्रहों में कविताओं का प्रकाशन। भारत के उपरांत अमेरिका, इंग्लैंड, चीन, नेपाल और जापान की हिंदी पत्रिकाओं में कविताओं एवं आलेख का प्रकाशन। भारत की विभिन्न पत्रिकाओं में कविताओं एवं लघु कथाओं का प्रकाशन। प्रेरणा समकालीन लेखन के लिए, संगिनी, वीणा, अभिनव प्रयास, चिकीर्षा, अदबीयात्रा, द पब्लिक मंथली, दूसरा मत, श्री सुदर्शनिका, लोकतंत्र की बुनियाद, प्रणाम पर्यटन, सूर्य प्रभा, सबरी शिक्षा समाचार, गुर्जर राष्ट्र वीणा, शैल सूत्र, नया अध्याय, प्रखर गुंज साहित्य नामा, फेस ऑफ इंडिया, साहित्य एक्सप्रेस, आदित्य संस्कृति, शीतल वाणी, डिप्रेस्ड एक्सप्रेस, छत्तीसगढ़ मित्र, साहित्य नामा, सरस्वती सुमन, शोध सृजन, काव्य रंगोली, युग धारा, विश्व गाथा, साहित्य नामा, हिंदुस्तानी जवान, दीवान मेरा, पंखुड़ी, चाणक्य वार्ता, अरण्य वाणी, साहित्य अमृत, संपर्क भाषा भारती, प्रेरणा अंशु, मुस्कान एक एहसास, विश्वकर्मा वैदिक, प्राची, लोक चिंतन, गौरवशाली भारत, समकालीन सांस्कृतिक प्रस्ताव, भारत दर्शन, काव्यांजलि, हिंदी की गूंज, नवल, मेरी निहारिका, नव साहित्य त्रिवेणी, स्वर्ग विभा, साहित्य समीर दस्तक, साहित्य अर्पण, लेखनी, साहित्य उदय, जयदीप पत्रिका, कंचन वर्ल्ड, खुशबू मेरे देश की, बढ़े चलो, अनहद कृति, प्रकृति मेल, समयानुकूल, प्रकृति दर्शन, सुवासित, प्रकृति मंथन, हिंदी सागर, साहित्य वाटिका, जनकृति, तेजस, मरू नवकिरण, समर सलील, साहित्य रचना, अभ्युदय, नवकिरण, शब्द सत्ता, शब्दांकुर, रेल राजभाषा, स्वर्णिम दर्पण, प्रगतिशील साहित्य, जय विजय, साहित्य सागर, संगम सवेरा, ग्रामीण चहल-पहल, आलोक पर्व, अध्यात्म संदेश, प्रकाश उत्सव इत्यादि। प्राप्त सम्मान: १) काव्य रंगोली मातृत्व ममता सम्मान, २) कलम वीर सम्मान, ३) काव्य चेतना सम्मान, ४) प्रतिभाशाली रचनाकार सम्मान, ५) मातृभूमि सम्मान, ६) मत प्ररेणा सम्मान, ७) काव्य सरिता सम्मान, ८) अमर्त्य साहित्य सम्मान

भारतीय योग पद्धति अपनाएं, जीवन को खुशहाल बनाएं

भारतीय योग पद्धति अपनाएं, जीवन को खुशहाल बनाएं

मानसिक तनाव अर्थात हताशा और संघर्ष की एक ऐसी परिस्थिति जो व्यक्ति की शारीरिक और मानसिक शक्ति के ऊपर विपरीत असर करती है। मानसिक तनाव अर्थात चिंता, हताशा, मायूसी, घबराहट, बेचैनी और उन्माद की एक ऐसी स...

;
©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |