Bhartiya Parmapara

Rajni Thanvi

Rajni Thanvi
Rajni Thanvi

मैं रजनी सुनील थानवी बीकानेर राजस्थान से हूं। विज्ञान संकाय से स्नातक स्तर की शिक्षा लेने के बाद मैंने बी. एड किया एवं पिछले 7 वर्षों से अध्यापन का कार्य कर रही हूं। जोधपुर-जैसलमेर मूल के पुष्करणा ब्राह्मण परिवार से होने के कारण धार्मिक परंपराओं की ओर शुरू से ही झुकाव रहा। इसके अलावा चित्रकला नृत्य एवं लेखन में रुचि रखती हूं एवं समय समय पर मेरी काव्य रचनाएं पत्र पत्रिकाओं में प्रकाशित होती रही हैं। मेरी हमेशा यही इच्छा रही है कि मैं अपनी तरफ से सिर्फ ना सिर्फ अपने परिवार बल्कि सम्पूर्ण समाज के उत्थान के लिए कुछ कर सकूं और इसी उद्देश्य को लेकर मैं अपने लेखन के माध्यम से निरंतर प्रयासरत हूं। “प्रयास छोटा…परंतु निरंतर” इसी मूल मंत्र के साथ वर्तमान ही नहीं बल्कि भविष्य में भी समाज के प्रति अपने दायित्वों को निभाने का मेरा यह प्रयास निरंतर जारी रहेगा।

पोंगल का त्योहार | कैसे मनाया जाता है पोंगल ?

पोंगल का त्योहार | कैसे मनाया जाता है पोंगल ?

मान्यता है कि पोंगल पर्व में किसान अपनी आगामी फसलों की अच्छी पैदावार के लिए प्रार्थना करते हैं। इस पर्व को तमिलनाडु के सांस्कृतिक एवं पारंपरिक रीति-रिवाजों के साथ उत्सा...

श्री राम सीता का विवाह | विवाह पंचमी

श्री राम सीता का विवाह | विवाह पंचमी

भगवान श्री राम चेतना और माता सीता प्रकृति शक्ति की प्रतीक हैं। चेतना व प्रकृति का मिलन का योग असाधारण है। मार्गशीर्ष शुक्ल पंचमी को यह विशेष योग भगवान श्रीराम और माता सीता के विवाह उत्सव के रूप में...

हनुमान जयंती | हनुमान जयंती कैसे मनाते है ?

हनुमान जयंती | हनुमान जयंती कैसे मनाते है ?

हनुमान जयन्ती एक हिन्दू पर्व है। यह चैत्र माह की पूर्णिमा को मनाया जाता है। इस दिन हनुमानजी का जन्म हुआ माना जाता है। हनुमान जी को कलयुग में सबसे प्रभावशाली देवताओं में...

;
©2020, सभी अधिकार भारतीय परम्परा द्वारा आरक्षित हैं। MX Creativity के द्वारा संचालित है |